आप सबकी दुआओं ने बहुत ताकत दी है. मेरे पास आप सबको धन्यवाद कहने के लिए शब्द नहीं है. pic.twitter.com/Ijk5rCOTnu — Rohini Acharya (@RohiniAcharya2) December 8, 2022

Stock Market: शेयर बाजार क्या है?

अगर शाब्दिक अर्थ में कहें तो शेयर बाजार किसी सूचीबद्ध कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने-बेचने की जगह है.

stock-market-thinkstocks-

BSE या NSE में ही किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर ब्रोकर के माध्यम से खरीदे और बेचे जाते हैं. शेयर बाजार (Stock Market) में हालांकि बांड, म्युचुअल फंड और डेरिवेटिव का भी व्यापार होता है.

स्टॉक बाजार या शेयर बाजार में बड़े रिटर्न की उम्मीद के साथ घरेलू के साथ-साथ विदेशी निवेशक (FII या FPI) भी काफी निवेश करते हैं.

शेयर खरीदने का मतलब क्या है?
मान लीजिये कि NSE में सूचीबद्ध किसी कंपनी ने कुल 10 लाख शेयर जारी किए हैं. आप उस कंपनी के प्रस्ताव के अनुसार जितने शेयर खरीद लेते हैं आपका उस कंपनी में उतने हिस्से का मालिकाना हक हो गया. आप अपने हिस्से के शेयर किसी अन्य खरीदार को जब भी चाहें बेच सकते हैं.

कंपनी जब शेयर जारी करती है उस वक्त किसी व्यक्ति या समूह को कितने शेयर देना है, यह उसके विवेक पर निर्भर है. शेयर बाजार (Stock Market) से शेयर खरीदने/बेचने के लिए आपको ब्रोकर की मदद लेनी होती है.

ब्रोकर शेयर खरीदने-बेचने में अपने ग्राहकों से कमीशन चार्ज करते हैं.

किसी लिस्टेड कंपनी के शेयरों का मूल्य BSE/NSE में दर्ज होता है. सभी सूचीबद्ध कंपनियों के शेयरों का मूल्य उनकी लाभ कमाने की क्षमता के अनुसार घटता-बढ़ता रहता है. सभी शेयर बाजार (Stock Market) का नियंत्रण भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी या SEBI) के हाथ में होता है.

Sebi की अनुमति के बाद ही कोई कंपनी शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्ट होकर अपना प्रारंभिक निर्गम इश्यू (आईपीओ या IPO) जारी कर सकती है.

प्रत्येक तिमाही/छमाही या सालाना आधार पर कंपनियां मुनाफा कमाने पर हिस्साधारकों को लाभांश देती है. कंपनी की गतिविधियों की जानकारी SEBI और BSE/NSE की वेबसाइट पर भी उपलब्ध होती है.

कोई कंपनी BSE/NSE में कैसे लिस्ट होती है?
शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्ट होने के लिए कंपनी को शेयर बाजार से लिखित समझौता करना पड़ता है. इसके बाद कंपनी पूंजी बाजार नियामक SEBI के पास अपने सभी जरूरी दस्तावेज जमा करती है. SEBI की जांच में सूचना सही होने और सभी शर्त के पूरा करते ही कंपनी BSE/NSE में लिस्ट हो जाती है.

इसके बाद कंपनी अपनी हर गतिविधि की जानकारी शेयर बाजार (Stock Market) को समय-समय पर देती रहती है. इनमें खास तौर पर ऐसी जानकारियां शामिल होती हैं, जिससे निवेशकों के हित प्रभावित होते हों.

शेयरों के भाव में उतार-चढ़ाव क्यों आता है?
किसी कंपनी के कामकाज, ऑर्डर मिलने या छिन जाने, नतीजे बेहतर रहने, मुनाफा बढ़ने/घटने जैसी जानकारियों के आधार पर उस कंपनी का मूल्यांकन होता है. चूंकि शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द लिस्टेड कंपनी रोज कारोबार करती रहती है और उसकी स्थितियों में रोज कुछ न कुछ बदलाव होता है, इस मूल्यांकन के आधार पर मांग घटने-बढ़ने से उसके शेयरों की कीमतों में उतार-चढाव आता रहता है.

अगर कोई कंपनी लिस्टिंग समझौते से जुड़ी शर्त का पालन नहीं करती, तो उसे सेबी BSE/NSE से डीलिस्ट कर देती है.

शायद आपको पता न हो, विश्व के सबसे अमीर व्यक्तियों में शामिल वारेन बफे भी शेयर बाजार (Stock Market) में ही निवेश कर अरबपति बने हैं.

आप कैसे कर सकते हैं शेयर बाजार में निवेश की शुरूआत?
आपको सबसे पहले किसी ब्रोकर की मदद से डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा. इसके बाद आपको डीमैट अकाउंट को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा.

बैंक अकाउंट से आप अपने डीमैट अकाउंट में फंड ट्रांसफर कीजिये और ब्रोकर की वेबसाइट से खुद लॉग इन कर या उसे आर्डर देकर किसी कंपनी के शेयर खरीद लीजिये.

इसके बाद वह शेयर आपके डीमैट अकाउंट में ट्रांसफर हो जायेंगे. आप शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द जब चाहें उसे किसी कामकाजी दिन में ब्रोकर के माध्यम से ही बेच सकते हैं.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

लखनऊ में खुला Lulu Mall सोशल मीडिया पर क्यों कर रहा है ट्रेंड, जानें इसके बारे में

lulu mall and why it is famous

कुछ समय पहले ही उत्तर प्रदेश के लखनऊ में देश का सबसे बड़ा Lulu मॉल खोला गया है। सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों में इस खूबसूरती देखने बनती है। यह मॉल करीब 11 एकड़ इलाके में बना हुआ है, जिस वजह से यहां एक समय में 50,000 लोग शॉपिंग कर सकते हैं।

लेकिन मॉल की खूबसूरती से ज्यादा बात इसके नाम को लेकर हो रही है। इसलिए आज के आर्टिकल में हम आपको Lulu मॉल और इससे जुड़ी दिलचस्प बातों के बारे में बताएंगे।

क्या है Lulu Mall?

why lulu mall is famous

अगर आप लखनऊ वासी हैं और वीकेंड पर घूमने का मन बना रहे हैं Lulu मॉल आपके लिए एक अच्छी डेस्टिनेशन है। यह मॉल लखनऊ-सुल्तानपुर रोड के पास शहीद पद के बगल में सुशांत गोल्फ सिटी में स्थित है। इस खूबसूरत मॉल को 2,000 करोड़ की लागत में तैयार किया गया है। इतना ही Lulu Mall भारत के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल में से एक है। लखनऊ के इस मॉल की भव्यता देखते शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द बनती है।

Lulu शब्द का मतलब क्या है?

why lulu mall is famous ()

मॉल(दिल्ली के मॉल) खुलने के बाद से ही Lulu शब्द काफी चर्चा में है। साथ ही यह सवाल भी उठ रहा है कि मॉल के लिए यह नाम क्यों चुना गया है। इस नाम का किस्सा बेहद दिलचस्प है। दरअसल ‘लूलू ग्रुप इंटरनेशनल’ एक फेमस मल्टीनैशनल कंपनी है। इस मॉल का हेडक्वार्टर संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी में है। बता दें कि Lulu शब्द का मतलब Pearl होता है। इसी शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द के नाम ग्रुप का नाम रखा गया है।

Lulu ग्रुप का मालिक कौन?

owner of lulu mall

Lulu ग्रुप हाइपरमार्केट और रिटेल कंपनियों की एक बड़ी चेन चलाता है। इस ग्रुप को केरल के रहने वाले एम,ए,यूसुफ अली ने शुरू किया था। इस ग्रुप ने अबू धाबी में अपना पहला सुपर मार्केट खोला था। इसके बदलते समय के साथ Lulu ग्रुप ने अबू धाबी समेत कई अन्य देशों में भी अपना बिजनेस फैलाया। आज Lulu ग्रुप का टर्नओवर 8 अरब डॉलर का है, साथ ही दुनिया भर के अलग-अलग हिस्सों में इसके मॉल फैले हुए हैं। व्यापार के अलावा यह मॉल आज 60,000 लोगों को रोजगार दे रहा है।

भारत में Lulu ग्रुप के कितने मॉल हैं?

भारत में अब तक Lulu ग्रुप ने कोच्चि, बेंगलुरू, तिरुवनंतपुरम और लखनऊ में अपने मार्केट खोले हैं। यह उत्तर भारत में lulu ग्रुप का पहला मॉल है, जिसे उत्तर प्रदेश की राजधानी में खोला गया है।

Lulu मॉल में क्या है खास?

what is lulu

  • लखनऊ के इस मॉल शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द में 1600 लोग फूड कोर्ट में एक साथ बैठ सकते हैं।
  • 50,00 लोग एक साथ शॉपिंग कर सकते हैं।
  • मॉल में 11 स्क्रीन का सुपरप्लेक्स लगे हैं।
  • मॉल में 15 रेस्टोरेंट और 25 आउटलेट का फूड कोर्ट है।
  • मॉल में मल्टी लेनर कार पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध है। जिसमें 3,000 गाड़ियां एक वक्त पर पार्क की जा सकती हैं।

Related Stories

तो ये थी Lulu मॉल और उसके नाम से जुड़ी सभी जानकारियां, जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए। आपको हमारा यह आर्टिकल अगर पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें, साथ ही ऐसी जानकारियों के लिए जुड़े रहें हर जिंदगी के साथ।

Nagpur मेट्रो ने रचा इतिहास, दुनिया का कोई देश नहीं कर पया ये काम, हर तरफ वाहवाही

Maharashtra Metro, Nagpur Metro, Guinness Book of World Records, Nagpur Metro Creates World Record, nagpur metro, longest double decker viaduct, world record, metro network, नागपुर, महाराष्ट्र

नागपुर मेट्रो ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड: नागपुर मेट्रो ने इतिहास रचकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराया है। नागपुर मेट्रो ने वर्धा रोड पर 3.14 किमी पर दुनिया की सबसे लंबी डबल डेकर वायडक्ट मेट्रो बनाने का रिकॉर्ड बनाया है। इस जटिल कार्य के लिए नागपुर मेट्रो को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया है।

नागपुर मेट्रो ने इतिहास रच दिया

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के न्यायाधीश ऋषि नाथ ने मंगलवार को नागपुर में मेट्रो भवन में रिकॉर्ड के लिए महाराष्ट्र मेट्रो के प्रबंध निदेशक बृजेश दीक्षित को प्रमाण पत्र प्रदान किया। नागपुर मेट्रो पहले ही एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हो चुकी है। इससे पहले किसी भी देश ने इतना लंबा मेट्रो डबल-डेकर वायाडक्ट स्ट्रक्चर नहीं बनाया है।

यह प्रोजेक्ट बेहद कठिन था

महाराष्ट्र मेट्रो के प्रबंध निदेशक बृजेश दीक्षित ने कहा कि वर्धा रोड पर परियोजना शुरू करना एक बड़ी चुनौती थी। तीन परतों में निर्माण कठिन था। संरचना में शीर्ष पर मेट्रो मार्ग, तल पर राजमार्ग और तल पर मौजूदा सड़क है।

नितिन गडकरी ने बधाई दी

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भी नागपुर मेट्रो की उपलब्धि की सराहना की है। गडकरी ने नागपुर मेट्रो परियोजना से जुड़े सभी लोगों को बधाई दी।

Heartiest Congratulations to Team NHAI and Maha Metro on achieving the Guinness Book of World Record in Nagpur by constructing longest Double Decker Viaduct (3.14 KM) with Highway Flyover & Metro Rail Supported on single column. #GatiShakti @GWR pic.twitter.com/G2D26c7EKn

— Nitin Gadkari (@nitin_gadkari) December 4, 2022

#AMP Stories #न्यूज़ ट्रैक स्पेशल FEATURE STORY #FakeNews #Wedding #JusticeForShraddha #FifaWorldCup2022

पिता लालू को किडनी देने के बाद शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द भावुक हुई रोहिणी, शेयर की ये खास पोस्ट

पिता लालू को किडनी देने के बाद भावुक हुई रोहिणी, शेयर की ये खास पोस्ट

पटना: राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव का सिंगापुर में 5 दिसंबर को सफलतापूर्वक किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था उनकी बेटी रोहिणी आचार्य ने उन्हें अपनी किडनी दी है। जिसके पश्चात से निरंतर रोहिणी आचार्य की खूब प्रशंसा हो रही है। सोशल मीडिया पर 'बेटी हो तो रोहिणी आचार्य जैसी हो' की मिसाल दी जा रही हैं।

तत्पश्चात, बृहस्पतिवार को रोहिणी आचार्य ने ट्वीट कर बड़ी बात कही है। रोहिणी ने लिखा- "मैं अभी अच्छा महसूस कर रही हूं। पापा भी ठीक हैं। आप सबकी दुआओं के लिए शब्द नहीं हैं, आप सबकी प्रार्थना काम आयी है। दिल की गहराइयों में आप सबके प्रति ढेर सारा प्यार और सम्मान है। आप सबकी दुआओं शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द ने बहुत ताकत दी है, मेरे पास आप सबको धन्यवाद कहने के लिए शब्द नहीं है। मेरे और पापा के लिए इतना प्रार्थना और दुआ करने के लिए आप सबका दिल से आभार जताना चाहती हूं, प्रणाम।

मैं अभी अच्छा महसूस कर रही हूँ. पापा भी ठीक हैं. आप सबकी दुआओं के लिए शब्द नहीं है.

आप सबकी प्रार्थना काम आयी है. दिल की गहराइयों में आप सबके प्रति ढ़ेर सारा प्यार और सम्मान है.

आप सबकी दुआओं ने बहुत ताकत दी है. मेरे पास आप सबको धन्यवाद कहने के लिए शब्द नहीं है. pic.twitter.com/Ijk5rCOTnu

— Rohini Acharya (@RohiniAcharya2) December 8, 2022

वही इससे पहले पिछले 11 नवंबर को पिता लालू प्रसाद यादव से साथ बचपन की एक फोटो साझा करते हुए रोहिणी ने ट्विटर पर लिखा- मां-पिता मेरे लिए भगवान हैं, मैं उनके लिए कुछ भी कर सकती हूं। आप सभी की शुभकामनाओं ने मुझे और मजबूत बनाया है। आपको बता दें किडनी ट्रांसप्लांट के पश्चात् रोहिणी आचार्य एवं लालू प्रसाद यादव दोनों स्वस्थ हैं। दोनों के स्वास्थ्य के बारे में तेजस्वी यादव, मीसा भारती सहित परिवार के अन्य शेयर मार्केट से जुड़े कुछ शब्द सदस्य निरंतर अपडेट देते रहे हैं। उपचार के पश्चात् लालू यादव ने होश में आने के बाद रोहिणी के बारे में पूछा था। साथ ही सर्जरी के पश्चात् लालू यादव ने भी अच्छा महसूस करने की बात कही थी।

महाराष्ट्र: उदयन राजे अपनी ही पार्टी बीजेपी के खिलाफ, आज ले सकते हैं कोई बड़ा फैसला

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी हैं। सातारा से BJP सांसद छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज हैं। वे राज्यपालभगत सिंह कोश्यारी के दिए बयान के बाद उन्हें महाराष्ट्र से बाहर करने की मांग पर अड़े हुए हैं। आज वे अपनी ही पार्टी के खिलाफ कोई बड़ा एलान कर सकते हैं। राज्यपाल के इस बयान के बाद बीजेपी दो गुटों में नजर आ रही हैं।

udayan_raje.jpg

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी हैं। महाराष्ट्र के सातारा से बीजेपी सांसद और छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज आज कोई एक बड़ा फैसला ले सकते हैं। उदयन राजे लगातार अपनी ही पार्टी बीजेपी के खिलाफ बोलते हुए नजर आ रहे हैं। दरअसल वे शिवाजी महाराज पर विवादास्पदा बयान देने के बावजूद महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशू महाराज पर कोई कार्रवाई नहीं होता हुआ देख कर काफी नाराज हैं। वहीं, कुछ दिनों पहले बीजेपी के सांसद उदयन राजे अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मुद्दे पर भावुक होते हुए भी नजर आए थे और उनकी आंखों में आंसू आ गए थे।

रेटिंग: 4.37
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 185