Education Loan vs Personal Loan: हर साल हजारों स्टूडेंट विदेश में रहकर पढ़ाई करने के अपने सपने को पूरा करने के लिए भारत छोड़ देते हैं.

Girl Most Searched On Google : लड़कियां अकेले में Google पर क्या करती हैं सर्च, रिपोर्ट में हुआ खुलासा; जानकर सोच में पड़ जाएंगे आप

Girl Most Searched On Google: महिलाओं के इंटरनेट यूज करने से जुड़ी कई दिलचस्प बातें सामने आई हैं. नई रिपोर्ट के मुताबिक देश में कुल 15 करोड़ इंटरनेट यूजर्स में से भारत में लगभग 6 करोड़ महिलाएं अब ऑनलाइन हैं और रोजमर्रा की जिदंगी को बेहतर बनाने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करती हैं.

What Do Girls Search On Google: गूगल (Google) ने अपने सर्च रिजल्ट्स (Google Search Results) की एक रिपोर्ट पेश की है, जिसमें महिलाओं के इंटरनेट यूज करने से जुड़ी कई दिलचस्प बातें सामने आई हैं. नई रिपोर्ट के मुताबिक देश में कुल 15 करोड़ इंटरनेट यूजर्स में से भारत में लगभग 6 करोड़ महिलाएं अब ऑनलाइन हैं और रोजमर्रा की जिदंगी को बेहतर बनाने के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करती हैं. मिले आंकड़ों के अनुसार, 75% महिलाएं 15-34 आयु वर्ग की हैं. इसके अलावा लड़कियां गूगल पर क्या सर्च करती हैं ये जानना काफी दिलचस्प होगा. महिलाओं को अपनी लाइफ से जुड़ी कई सवाल हैं, जो वह अकेले में मोबाइल में ही सर्च करके पता लगा लेती हैं.

करियर और शॉपिंग से जुड़ी बातों को करती हैं सर्च

गूगल के रिपोर्ट के अनुसार, लड़कियां बचपन से ही एम्बिशयस हैं वो अपने करियर को लेकर सबसे ज्यादा तवज्जो देती हैं. ऐसी लड़कियां इंटरनेट पर इसी से रिलेटेड जानकारी सर्च करती हैं. जैसे उन्हें किस दिशा में करियर बनाना है या कौन सा कोर्स करना है. कई बार कोर्स से जुड़े सवाल-जवाब ढूंढने के लिए गूगल का इस्तेमाल करती हैं. इसके अलावा लड़कियां ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स पर जाकर कपड़ों के डिजाइन, नए कलेक्शन्स, ऑफर्स के बारे में इंटरनेट पर ज्यादा खोज खबर करती हैं. ये बात पहले भी कई रिसर्च में सामने आ चुकी है.

फैशन व मेंहदी डिजाइन को भी खोजती हैं लड़कियां

लड़कियों को सुन्दर और सबसे अलग दिखना काफी अच्छा लगता है. इसके लिए वो इंटरनेट का सहारा लेती हैं .लड़कियां सबसे ज्‍यादा फैशन, ट्रेंड्स, ब्‍यूटी ट्रीटमेंट्स और घरेलू नुस्‍खों के बारे में सर्च करना पसंद करती हैं. लड़कियों को मेंहदी लगाना भी पसंद होता है. ये बात इस रिसर्च में भी सामने आई है. लड़कियां अक्सर गूगल पर मेंहदी की लेटेस्ट डिजाइन सर्च करती हैं. आमतौर पर सभी को म्यूजिक सुनना पसंद होता है. लेकिन लड़कियों के द्वारा सबसे ज्यादा सर्च करने वाली चीजों में म्यूजिक भी शामिल है. लड़कियां इंटरनेट पर रोमांटिक गाने खूब सर्च करती है और सुनती भी हैं. इसके साथ ही लड़कियां इंटरनेट पर रोमांटिर शायरियां भी सर्च करती हैं.

ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है

आप जिस जिला में रहते हैं और आप जिस कंपनी का गैस सिलेंडर इस्तेमाल करते हैं उस जिला में उस कंपनी की एजेंसी का पता आप ऑनलाइन अपने गैस कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर पता कर सकते हैं । उदाहरण के रूप में अगर आप Hp gas cylinder का इस्तेमाल करते हैं और आपको अपने डिस्ट्रीब्यूटर की जानकारी पता करनी है तो इसके लिए आपको HP Gas Official Website पर जाना होगा और Locate distributor के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आप अपने राज्य और जिला का चयन कर डिस्ट्रीब्यूटर की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे ।

You can find the address of the agency of that company in the district in which you reside and the company whose gas cylinder you use online by visiting the official website of your gas company.As an example, if you use Hp gas cylinder and you have to know the information of your distributor, then for this you will have to go to HP Gas Official Website and click on the option of local distributor after which you will get your state and district. You will be able to get information about distributor by selecting.

भारत में अगर आप Lpg gas distributorship लेना चाहते हैं तो आप तीन कंपनियों के ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है पास जा सकते हैं HP Gas Agency ,Bharat Gas Agency, Indian Gas Agency और इन तीनों कंपनी में से किसी एक कंपनी की डिस्ट्रीब्यूटरशिप लेने के लिए आप lpgvitarakchayan.in की वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं साथ ही आप कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भी एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं ।

If you want to take Lpg gas distributorship in India, then you can go to three companies HP Gas Agency, Bharat Gas Agency, Indian Gas Agency and website lpg vitrak chayan lpgvitarakchayan.in to take distributorship of one of these three companies. You can apply for LPG distributorship through Common Service Center as well.

एलपीजी का पूरा नाम liquefied petroleum gas है ।

The full name of LPG is liquefied petroleum gas .

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि आपको Subsidy over LPG Gas मिल रही है या नहीं तो इसके कुछ तरीके हैं जिसमें सबसे पहला आप यह चेक कर सकते हैं कि आपका गैस कंपनी के तहत जो भी मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड है उस पर पैसे क्रेडिट होने के मैसेज आते हैं या नहीं । दूसरा आप सब्सिडी चेक करने के लिए lpg vitrak chayan वेबसाइट की सहायता ले सकते हैं । तीसरा आप Lpg gas subsidy चेक करने के लिए अपने गैस कंपनी की वेबसाइट के माध्यम की सहायता ले सकते हैं और चौथा आप Lpg gas subsidy की जानकारी अपने डिस्ट्रीब्यूटर से भी प्राप्त कर सकते हैं ।

If you want to know whether you are getting Subsidy over LPG Gas or not, then there are some ways in which the first thing you can check is that your mobile number is registered under the gas company, the money being credited on the message Come or not. Secondly you can take help of lpgvitrakchayan website to check subsidy . Thirdly, you can take help through your gas company website to check Lpg gas subsidy and fourth you can also get information about Lpg gas subsidy from your distributor.

भारत सरकार के द्वारा एलपीजी के उपयोग को बढ़ाने और हर घर तक एलपीजी गैस सिलेंडर पहुंचाने के लिए पहल नाम से एक योजना चलाई गई थी और एलपीजी गैस के ऊपर सब्सिडी भी पहल योजना के अंतर्गत ही दी जाती है । PAHAL योजना के बारे में अधिक जानकारी यहां क्लिक कर प्राप्त करें ।↗

Education Loan vs Personal Loan: पर्सनल लोन या एजुकेशन लोन ? विदेश में पढ़ाई के लिए इनमें से कौन है बेहतर

Education Loan vs Personal Loan: विदेशी में पढ़ाई के लिए संपन्न घरों से ताल्लुक रखने वाले स्टूडेंट्स को भी अक्सर वित्तीय चुनौतियों से जूझना पड़ जाता है. ऐसे में वे लोन की मदद लेते हैं. कौन सा लोन स्टूडेंट के लिए बेहतर है उसके बारे में यहां बताया गया है.

Education Loan vs Personal Loan: पर्सनल लोन या एजुकेशन लोन ? विदेश में पढ़ाई के लिए इनमें से कौन है बेहतर

Education Loan vs Personal Loan: हर साल हजारों स्टूडेंट विदेश में रहकर पढ़ाई करने के अपने सपने को पूरा करने के लिए भारत छोड़ देते हैं.

Education Loan vs Personal Loan: हर साल हजारों स्टूडेंट विदेश में रहकर पढ़ाई करने के अपने सपने को पूरा करने के लिए भारत छोड़ देते हैं. बेहतर रोजगार के अवसरों और इंटरनेशनल कैरियर के दायरे में आने के लिए भारतीय स्टूडेंट फारेन यूनिवर्सिटी का चयन करते हैं. दरअसल दुनिया में कई ऐसे भी देश हैं जो अपने ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है यहां चल रहे स्पेशल कोर्स जैसे कि फैशन,बिजनेस मैनेजमेंट,आईटी, हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट और तमामतर कोर्स के लिए पापुलर हैं. उन विदेशी संस्थानों द्वारा ऑफर किए गए स्पेशल कोर्स की पढ़ाई और डिग्री ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है हासिल करने के लिए फाइनेंशिएल तौर पर मजबूत इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को भी अक्सर वित्तीय चुनौतियों का सामना करना पड़ जाता है.

ऐसे स्टूडेंट्स अपनी पढ़ाई पूरी बैंक लोन की मदद लेते हैं. हालांकि, वे अपनी एजुकेशन के लिए फंड की व्यवस्था करने में सही वित्तीय संस्थान और उसके स्कीम- एजुकेशन लोन और पर्सनल लोन को लेकर कन्फ्यूज हो जाते हैं इन दोनों स्कीम के अच्छाइयों और कमियों में अक्सर उलझें रहते हैं. विदेश में पढ़ाई करने, रहने, ट्यूशन फीस, रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने और कई अन्य एजुकेशन संबंधी खर्चों के लिए फंड की व्यवस्था करने में सही सोर्स (बैंक या फिर कोई और वित्तीय संस्थान) के पास अप्लाई करना बेदह जरूरी है. इसमें लोन के ब्याजदर और किस्त जैसे जरूरी पहलुओं पर ध्यान देने की जरूरत पड़ती है.

Best SIP for 5 Years Investment 2022: इस साल चुनें ये बेहतरीन एसआईपी, पांच साल में कमा सकते हैं बैंक एफडी से भी अधिक रिटर्न

Mutual Funds 2022: इन म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम ने 1 साल में 78% तक दिया रिटर्न, आपने किसी में किया है निवेश

पर्सनल लोन और एजुकेशन लोन में क्या है फर्क ?

पर्सनल लोन

पर्सनल लोन वित्तीय संस्थान से कर्ज लेने वाले शख्स की इच्छा के अनुसार लोन अमाउंट इस्तेमाल करने की अनुमति देता है. इस तरह के लोन के जरिए मिले फंड को एजुकेशन, ट्यूशन फीस, शादी, घर का नवीनीकरण, छुट्टी जैसे कई मकसदों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. यह लोन बैंक, क्रेडिट यूनियन, या ऑनलाइन लेंडर के यहां अप्लाई करके लिया जा सकता है. सबसे अहम बात, पर्सनल लोन को निर्धारित टेन्योर के भीतर समय पर ब्याज के चुकाना जाना चाहिए. ये एक अनसिक्योर लोन है. इसके लिए उधार लेने वाले शख्स को कोलेटेरल या प्रापर्टी के दस्तावेजों को जमा करने की जरूरत नहीं होती है और न्यूनतम कागजी कार्यवाही के साथ कम समय में बैंको द्वारा जारी किया जाता है. इसमें कर्ज लेने वाले शख्स के CIBIL स्कोर और मंथली इनकम पर ध्यान किया जाता है.

एजुकेशन लोन

एजुकेशन लोन एक तरह का लोन स्कीन है. एजुकेशन संबंधी खर्चों का भुगतान करने के लिए स्टूडेंट इस लोन के लिए अप्लाई करते हैं. भारत या विदेश में रहकर बेहतर शिक्षा की चाह रखने वाले छात्रों की मदद करने के लिए कई बैंक और एनबीएफसी कंपेटिटीव ब्याज दर पर एजुकेशन लोन का ऑफर देते हैं. विदेशी यूनिवर्सिटी या भारत के प्रतिष्ठित संस्थान के कोर्स में दाखिला पाने वाले सभी छात्रों को स्कॉलरशिप का लाभ नहीं मिल पाता है, ऐसी स्थिति में एजुकेशन लोन छात्रों की पढ़ाई के खर्चों को पूरा करने का सबसे अच्छा जरिया बना पाता है.

(Article By Ajay Sharma, Founder and President – Abhinav Immigration Services)

एचआर की सैलरी कितनी होती है? | How much is the salary of an HR

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि एक एचआर की सैलरी कितनी होती है? एचआर की सैलरी कितनी है? HR ki salary kitni hoti hai?

दोस्तों जब हम किसी कंपनी (generally private company) में job की बात करते हैं, तो उसमें बहुत से अलग-अलग posts आते हैं।

पर हर कंपनी में ही एक पोस्ट common होती है, वह है HR की।

हर company में एक एचआर का काम बहुत जरूरी होता है, इसलिए आज के समय में बहुत से लोग एचआर की job लेने के लिए भी अपने स्तर से तैयारी करते हैं।

एचआर एक अच्छी job है, और हर job की तरह इससे रिलेटेड भी एक common सवाल जो कई लोगों के मन में रहता है कि एक एचआर की सैलरी कितनी होती है? या एचआर महीने का कितना कमाते हैं?

एचआर की सैलरी कितनी होती है?

इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में विस्तार से बात करेंगे। जानेंगे कि भारत में एक HR की औसतन सैलरी कितनी है?

इसके साथ ही हम एक एचआर के बारे में, और उनके काम आदि से संबंधित कई जरूरी बातों पर भी चर्चा करेंगे।

एचआर (HR) की salary कितनी है?

एक एचआर का औसतन वेतन 20-30 हज़ार रुपए प्रति महीने तक होता है। वहीं यदि एक एचआर के तौर पर आपका अनुभव ज्यादा होता है और आप किसी बड़ी और अच्छी कंपनी में है चार बनते हैं तो आपकी सैलरी 50-60 हज़ार रुपए तक हो सकती है। वहीं यदि आप HR VP जैसी पोजिशन पर पहुंच जाते हैं तो आपकी सैलरी 1-1.2 लाख या इससे भी ज्यादा तक जा सकती है।

अलग-अलग संस्था में HR की सैलरी में अंतर होता है।

इसलिए आप किस कंपनी में एचआर की जॉब पाते हैं यह भी काफी ज्यादा मायने रखता है कि आपकी सैलरी कितनी होगी।

जैसे कि यदि ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है आप किसी बड़े मल्टीनेशनल कंपनी में HR की नौकरी पा लेते हैं तो आपकी शुरुआती सैलरी ही काफी अच्छी हो सकती है।

वहीं यदि कंपनी छोटी होगी या फिर कोई नया startup होगा, तो ऐसा संभव है कि वहां आपकी सैलरी कम हो।

नई कंपनियों में HR की salary 15 हज़ार या कई बार 10 हज़ार रुपए तक भी हो सकती है।

पर on average कह सकते हैं कि एक एचआर की सैलरी 20, 25 या 30 हजार रुपए प्रति महीने के लगभग ही रहती है।

HR में आपकी पोस्ट क्या है, उस हिसाब से आपकी सैलरी रहती है। यहां post से मतलब है कि पहले आप किसी भी कंपनी में HR administrator के तौर पर ज्वाइन होते हैं और तब आपकी सैलरी काफी कम होती है।

इसके बाद यदि आप HR management में चले जाते हैं तो तब आपकी सैलरी अच्छी खासी हो जाती है, लेकिन इसके लिए आपको अच्छा खासा अनुभव प्राप्त करना होता है।

इसके बाद भी आगे आप HR निदेशक के लिए अपना लक्ष्य बना सकते हैं और वहां पर आपकी सैलरी और भी ज्यादा अच्छी होती है।

एक HR का काम क्या होता है?

एचआर की सैलरी के बारे में जानने के साथ-साथ हमें एक HR के काम के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए कि एक HR काम क्या करता है और उसे किस काम की सैलरी दी जाती है।

तो, एक HR का काम किसी भी कम्पनी में employees और worker के मैनेजमेंट, recruitment process का काम और बाकी सारे Requirements को देखने का होता है।

यानी कि प्राइवेट कंपनियों में जब लोगों को hier किया जाता है, तो ये काम एचआर ही करते हैं।

कई बार HR की जगह ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है HRM का भी उपयोग किया जाता है। HR का पुरा नाम Human Resource होता है।

HRM का पुरा नाम Human resource management होता है।

एक HR का मुख्य उद्देश्य कम्पनी को उच्च मार्ग में लाना और बदले में काम के हिसाब से वर्कर या कर्मचारी को टाइम से वेतन देना होता है।

इसीलिए बिना HR के कोई कंपनी चल नहीं सकती है।

इन्हें भी पढ़ें

HR की सैलरी को प्रभावित करने वाले factors –

जैसा कि हमने जाना, एक एचआर की वास्तविक सैलरी कितनी होगी यह निर्भर करता है कि वह किस कंपनी में काम कर रहे हैं एवं वहां पर उनके पास काम का ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है अनुभव क्या है आदि।

तो अब हम एक HR की सैलरी को प्रभावित करने वाले सभी factors के बारे में भी बात कर लेते हैं।

एक HR की salary निम्नलिखित factors पर निर्भर करती है –

  • कंपनी कितनी बड़ी है
  • आपकी maturity और experience
  • कंपनी में आपका अनुभव
  • आदि

कंपनी कितनी बड़ी है

इसका सीधा सा मतलब यही है कि आप जितनी बड़ी कंपनी में काम करेंगे आपकी सैलरी उतनी ही ज्यादा होगी और कंपनी यदि नई और छोटी होगी तो जाहिर है शुरुआत में वे आपको कम ही सैलरी offer कर पाएंगे।

किसी बड़े multinational company में HR के रूप में तो शुरुआती सैलरी भी काफी बेहतरीन रहती है।

तो अगर आपको अच्छी खासी सैलरी चाहिए तो जरूरी है कि आपके पास अच्छी योग्यता हो और आप अच्छे companies में HR के job के लिए अप्लाई करें।

आपकी maturity और experience

यानी कि आप की शैक्षणिक योग्यता कितनी है और क्या आपको इस क्षेत्र में कुछ अनुभव है आदि।

जब एक HR बनने की बात होती है तो आप इसके लिए डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं या फिर एमबीए आदि के बाद भी एचआर बनते हैं।

तो ऐसे में जाहिर है कि जो उम्मीदवार ज्यादा शैक्षणिक योग्यता रखता होगा उसे preference दी जाएगी, और उसकी सैलरी भी अच्छी होगी।

कंपनी में आपका अनुभव

इस बारे में हमने ऊपर भी कहा, कि पहले आप एचआर एडमिनिस्ट्रेटर बनते हैं फिर एचआर मैनेजर और फिर आगे चलकर एचआर निदेशक तक बन सकते हैं।

किसी भी कंपनी में एक एचआर के तौर पर काम करते हुए जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता है, आपकी salary भी उसी हिसाब से बढ़ती है।

किसी भी कंपनी में अच्छा-खासा अनुभव हो जाने के बाद एक एचआर के तौर पर आपकी सैलरी भी अच्छी खासी हो जाती है।

Conclusion

ऊपर दिए गए इस आर्टिकल में हमने बात की है कि एक एचआर की सैलरी कितनी होती है?

यहां हमने एचआर की औसतन सैलरी और इससे संबंधित दूसरी कुछ जरूरी बातों पर भी चर्चा की है।

उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपके लिए इनफॉर्मेटिक रहा होगा।

इससे संबंधित कोई प्रश्न आदि हो तो आप हमें नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।

Akash, Padhaipur के Writter है। इन्होंने 2020 में अपनी M.A (हिंदी) की पढ़ाई पूरी की।इनको किताबें पढ़ने का बहुत शौक़ है, इसके अलावा इन्हें लिखना भी बहुत पसंद है।

नए साल से लागू होंगे ये 6 नियम, जेब पर होगा सीधा असर

नए साल के पहले महीने में ही 6 नियमों में बदलाव होने वाला है जो आपकी रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े हैं. जानते हैं ये नियम कौन से हैं? और ये आपके जीवन को कैसे प्रभावित करेंगे?

By इंडिया रिव्यूज डेस्क On Dec 26, 2022 35 0

new rule change

नया साल और नया महीना आ रहा है. इसी के साथ भारत सरकार से जुड़ कुछ नियमों में भी बदलाव होने वाला है. ये नियम आपके जीवन को सीधे तौर पर प्रभावित करेंगे जिनका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा.

नए साल के पहले महीने में ही 6 नियमों में बदलाव होने वाला है जो आपकी रोजमर्रा की जिंदगी से जुड़े हैं. जानते हैं ये नियम कौन से हैं? और ये आपके जीवन को कैसे प्रभावित करेंगे?

1) बैंक लॉकर के नियम

1 जनवरी से बैंक लॉकर से जुड़े नियम भी बदलने वाले हैं. नए नियम के मुताबिक लॉकर के मामले में बैंक अब ग्राहकों के साथ मनमानी नहीं कर पाएगी. अब याद बैंक के लॉकर में रखे सामान को कोई नुकसान पहुंचता है तो इसके लिए बैंक जवाबदार होगी. बैंक और ग्राहक के बीच एग्रीमेंट साइन किया जाएगा जो 31 दिसम्बर तक वैध रहेगा. इसके अलावा लॉकर से जुड़े नियमों में यदि बैंक अपनी ओर से कोई बदलाव करता है तो बैंक को SMS या अन्य माध्यम से ग्राहक को सूचित करना होगा.

2) क्रेडिट कार्ड नियम

आप यदि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो क्रेडिट कार्ड से जुड़े कुछ नियम भी 1 जनवरी से बदलने वाला है. ये नियम क्रेडिट कार्ड पर मिलने वाले रिवार्ड पॉइंट से ऑनलाइन कमाई का सबसे अच्छा बिजनेस कौन सा है संबंधित है. नए साल की शुरुआत में HDFC Bank अपने क्रेडिट कार्ड के रिवार्ड पॉइंट सिस्टम में बदलवा करने जा रही है. ऐसे में यदि आपके पास पहले से रिवार्ड पॉइंट हैं तो 1 जनवरी से पहले सभी रिवार्ड पॉइंट का उपयोग कर लें.

3) पेट्रोल डीजल की कीमतों में बदलाव

हर महीने की शुरुआत में पेट्रोल और डीजल की कीमतों का निर्धारण किया जाता है. इस बार भी नए साल के नए महीने में पेट्रोल और डीजल की कीमतें एक बार फिर से तय होगी. साल की शुरुआत में ये देखना यहां होगा कि पेट्रोल और डीजल के दाम घटते हैं या बढ़ते हैं.

4) गैस की कीमतों में बदलाव

देश में LPG, CNG और PNG की काफी ज्यादा खपत होती है. जैसे पेट्रोल और डीजल की कीमतों का निर्धारण हर महीने की शुरुआत में किया जाता है वैसे ही इनका निर्धारण भी हर महीने की शुरुआत में किया जाएगा. पिछले काफी महीने से LPG के दाम स्थिर हैं लेकिन नए साल में इनके दाम में बढ़ोतरी होगी या फिर कमी आएगी. ये आने वाला समय बताएगा.

5) वाहन की कीमत में बढ़ोतरी

वाहन खरीदने का मन है तो साल के अंत में खरीद लें क्योंकि नए साल की शुरुआत में ही वाहन की कीमतों में बढ़ोतरी हो सकती है. साल की शुरुआत में ही देश की प्रमुख ऑटोमोबाईल कंपनियाँ अपने प्रमुख मॉडल के दाम बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं. नए साल से चार पहिया वाहन की कीमतों में 30 हजार रुपये तक की बढ़ोतरी हो सकती है. ऐसे में आप वाहन खरीदना चाहते हैं तो इसी वर्ष खरीद सकते हैं.

6) जीएसटी से जुड़े नियमों में बदलाव

नए साल की शुरुआत में ही GST से जुड़ा एक महत्वपूर्ण नियम बदलने वाला है. सरकार ने नए साल से जीएसटी की E-Invoicing के लिए जरूरी सीमा को 20 करोड़ रुपये से घटाकर पाँच करोड़ रुपये कर दिया है. GST के नियमों में ये बदलाव साल की शुरुआत से होगा. ऐसे में जिन व्यापारियों का टर्नओवर पाँच करोड़ रुपये या उससे ज्यादा है उन्हें ई-बिल जनरेट करना जरूरी है.

पुराना साल जाने के साथ और नए साल आने के साथ ये सभी नियमों में बदलाव होने वाला है. ये सभी बदलाव आपके जीवन में बदलाव लाने वाले हैं.

रेटिंग: 4.20
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 547