[Share Market] शेयर बाज़ार के बारे में जाने.

इसमें आप शेयर बाजार के बारे में कुछ Basic जानकरी प्राप्त कर पाएंगे.

अगर आप शेयर बाजार में रूचि रखते है तो इसमें बताये गए जाकारी से आपको काफी लाभ मिलेगा.

Share Market के बारे में इसमें आप जानेंगे की शेयर मार्केट क्या है? NSE और BSE Stock Exchange क्या है? शेयर बाजार में Broker क्या है? Demat Account क्या है? शेयर बाजार में Trading Account क्या है? शेयर मार्किट में पैसे कैसे लगाये?

Share Market क्या है?

Know About Share Bazar In Hindi

Share Market एक ऐसा Market है जहाँ बहुत से Companies के Shares ख़रीदे और बेचे जाते हैं.

किसी कंपनी का Share खरीदने का मतलब उस कंपनी के कुल शेयर में से ख़रीदे गए शेयर के बराबर हिस्सेदार बन जाना होता है.

Share Market में उतार चढ़ाव होते रहते हैं. ऐसे में जितना जल्द पैसा कमाया जाता है उतना हीं जल्द पैसा डूब भी जाता है.

NSE और BSE Stock Exchange क्या है?

जिस भी कंपनी की हम शेयर खरीदते है वो कंपनी शेयर मार्केट का गणित क्या है? स्टॉक एक्सचेंज से लिस्टेड होती है.

सभी तरह से परिपूर्ण यानि गाइडलाइन को फॉलो करने के बाद उस कंपनी को स्टॉक Exchange में लिस्टेड किया जाता है. यानि शेयर खरीद बिक्री के लिए Allow किया जाता है.

यह स्टॉक Exchange India में दो है.

इनमे से एक National Stock Exchange(NSE) और दूसरा Bombay Stock Exchange(BSE) है.

शेयर बाजार में Broker क्या है?

शेयर मार्किट में इन्वेस्ट करने के लिए ब्रोकर से जुड़ना होता है.

किसी भी शेयर को हम ब्रोकर के माध्यम से खरीदते है.

India में अनेको ब्रोकर है जो इस प्रकार की सेवा देती है.

सभी ब्रोकर का Service प्लान अलग-अलग होता है.

उसी अनुसार वे इसके लिए वो कुछ पैसे लेती है.

कुछ Broker का Name इस प्रकार है :- Zerodha, Upstox, Sharekhan, Angel Broking, Etc.

Demat Account क्या है?

Demat Account बैंक Accunt की तरह होता है. जो किसी ब्रोकर के माध्यम से खोला जाता है.

शेयर मार्किट में मुनाफा होने के बाद आपको जितने पैसे मिलेंगे वो सारे पैसे Demat Account में जायेंगे.

Demat Account खोलते बक्त आपके Savings Account के साथ लिंक किया जाता है.

जिससे आप उस Demat Account से अपने Bank Account में धन राशी Transfer कर सकते हैं.

शेयर बाजार में Trading Account क्या है?

शेयर मार्केट में पैसे इन्वेस्ट करने से पहले एक Demat Accunt Open करने के बाद एक ट्रेडिंग Account भी Open करने होते है.

ट्रेडिंग Account के माध्यम से ही आप किसी भी शेयर को खरीद बिक्री कर सकेंगे.

शेयर मार्केट में पैसे कैसे लगाये?

इसके लिए सबसे पहले एक ब्रोकर को Choose करने होते है.

शेयर मार्किट में Share खरीदने के लिए उस ब्रोकर के Application के माध्यम से ऑनलाइन एक Demat Account और एक Trading Account बनाना होता हैं.

Account खोलने के लिए आपके पास Saving Account, Address Proof, Pan Card इत्यादी होना जरुरी है.

उसके बाद आप आसानी से किसी भी कंपनी का शेयर खरीद बिक्री कर पाएंगे.

अच्छी Companies के Shares पर अपना Investments करें.

Share Market में किसी भी कंपनी का Share Value Up या Down का पता लगाने के लिए Economic Times Newspaper या Ndtv Business न्यूज़ चैनल देख सकते हैं.

Note:- Share Market में निवेश करने से पहले इसके बारे में अच्छे से समझ लें. क्योकि Share Market में कुछ कम्पनियाँ Fraud होती हैं जिससे ऐसे कंपनी में पैसे डूब जाते हैं.

तो यह था जानकारी शेयर मार्केट से जुड़े. जिसमे आपने जाना की शेयर मार्केट क्या है? NSE और BSE Stock Exchange क्या है? शेयर बाजार में Broker क्या है? Demat Account क्या है? शेयर बाजार में Trading Account क्या है? शेयर मार्किट में पैसे कैसे लगाये?

अगर आपको इस जानकारी से हेल्प मिला हो तो कृपया इसे जरुर शेयर करे.

Share Market Kya Hai Wikipedia In Hindi, Share Market Kya Hai, Share Market Live, Share Market News, Share Market Today, What Is Share शेयर मार्केट का गणित क्या है? Market.

शेयर मार्केट लाइव चार्ट, शेयर मार्केट गाइड Pdf, शेयर मार्केट को कैसे समझें, शेयर मार्किट हिन्दी, न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए, शेयर कैसे खरीदते है, शेयर मार्केट का गणित, शेयर मार्केट को कैसे समझें, शेयर बाजार के नियम, शेयर मार्केट टिप्स, शेयर मार्किट न्यूज़, शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं.

Muhurat Trading: दीपावली शेयर मार्केट का गणित क्या है? के दिन सिर्फ एक घंटे के लिए खुलता है शेयर बाजार, जानें क्या है मुहूर्त ट्रेडिंग

दीपावली के दिन सभी धन-धान्य की देवी लक्ष्मी की पूजा करते हैं. ज्यादातर दुकाने और ऑफिस बंद होते हैं. लेकिन दिवाली का त्योहार शेयर बाजार और उसके इनवेस्टर्स के लिए बहुत खास रहता है. उस दिन शेयर मार्केट दिन-भर भले ही बंद रहता है, मगर शाम को एक खास मुहूर्त कुछ समय के लिए ओपन होता है.

Muhurat Trading: दीपावली के दिन सिर्फ एक घंटे के लिए खुलता है शेयर बाजार, जानें क्या है मुहूर्त ट्रेडिंग

Trading Muhurat: दीपावली (Deepawali) के दिन सभी धन-धान्य की देवी लक्ष्मी की पूजा (Lakshmi Puja) करते हैं. ज्यादातर दुकाने और ऑफिस बंद होते हैं. लेकिन दिवाली (Diwali) का त्योहार शेयर बाजार और उसके इनवेस्टर्स के लिए बहुत खास रहता है. उस दिन शेयर मार्केट दिन-भर भले ही बंद रहता है, मगर शाम को एक खास मुहूर्त कुछ समय के लिए ओपन होता है, जिसे ट्रेडिंग मुहूर्त कहा जाता है. आइए जानते हैं क्या है ट्रेडिंग मुहूर्त और दीपावली पर इसे लेकर क्या है परंपरा. यह भी पढ़ें: Start Up India: अमेरिका की कंपनी ट्राइब कैपिटल भारत मे करेगी निवेश, भारतीय स्टार्टअप कंपनियों में लगाएगी 2 बिलियन डॉलर

क्या है ट्रेडिंग मुहूर्त

दरअसल, दिवाली के दिन शेयर मार्केट में सालों से ट्रेडिंग मुहूर्त का रिवाज चला आ रहा है. शेयर बाजार की परंपरा के मुताबिक दिवाली के दिन सामान्य दिनों की तरह दिन के वक्त ट्रेडिंग नहीं की जाती है, लेकिन शाम को ट्रेडिंग मुहूर्त के लिए स्टॉक एक्सचेंज विशेष रूप से एक घंटे के लिए खोले जाते हैं. दिवाली पर शेयर मार्केट में इनवेस्ट करना बेहद शुभ माना जाता है. ट्रेडिंग मुहूर्त के दिन निवेशक बाजार में ट्रेडिंग कम और निवेश पर ज्यादा फोकस करते हैं. बता दें कि ट्रेडिंग मुहूर्त का चलन BSE में 1957 और NSE में 1992 में शुरू हुआ था. विशेषज्ञ बताते हैं कि ट्रेडिंग मुहूर्त पूरी तरह परंपरा से जुड़ी है.

ट्रेडिंग मुहूर्त का समय

अगर बात करें इस बार के ट्रेडिंग मुहूर्त की, तो देश में शेयर बाजार में इस साल दिवाली के दिन यानि 24 अक्टूबर को शाम 6:15 बजे से लेकर शाम 7:15 बजे के बीच ट्रेडिंग मुहूर्त की जाएगी. 24 अक्टूबर को शाम 6 बजे प्री ओपनिंग शेयर मार्केट का गणित क्या है? सेशन शुरू होगा और 6:08 पर समाप्त हो जाएगा. ट्रेडिंग मुहूर्त में मैचिंग का समय शाम 6:08 से 6:15 बजे तक का होगा. हालांकि कॉल ऑप्शन में ट्रेड मॉडिफिकेशन शाम 7:45 बजे खत्म हो जाएगा.

वैसे तो दिवाली के दिन शेयर बाजार में भी छुट्टी होती है. अन्य दिनों की तरह सुबह 9.15 बजे से शेयरों की खरीद बिक्री नहीं की जाती है. लेकिन शाम को ट्रेडिंग मुहूर्त के तहत 1 घंटे के लिए शेयरों का न केवल सौदा होता है, बल्कि मूहूर्त ट्रेडिंग सत्र के दौरान ही शेयर बाजार में की गई सभी बाइंग और सेलिंग का सेटलमेंट भी किया जाता है.

trading muhurat the stock market opens for only one hour on the day of deepawali know what is the trading muhurat

आपके इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो के लिए कितना जरूरी है कमोडिटी, यहां समझें पूरा गणित

कमोडिटी बाजार में एक तो महंगाई से कवर मिलता है. इसके अलावा आपको डायवर्सिफिकेशन मिलेगा और शेयरों-बॉन्ड के झंझटों का कोई असर नहीं होगा.

आपके इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो के लिए कितना जरूरी है कमोडिटी, यहां समझें पूरा गणित

इन्वेस्टमेंट (Investment) के मामले में पंकज बड़े सीधे से कॉन्सेप्ट पर चलते हैं. पोर्टफोलियो में FD, म्यूचुअल फंड, PPF और स्टॉक्स होने चाहिए. एक दिन उनका कॉन्सेप्ट हिल गया. हुआ यूं कि उनके एक दोस्त ये जानकर हैरान रह गए कि पंकज का कमोडिटीज में कोई निवेश नहीं है. तो क्या कमोडिटीज (Commodities) में भी पैसा लगाना चाहिए था? क्‍या मैं पैसा बनाने से चूक गया? ये सोचकर पंकज चकराए हुए थे. फिर पंकज ने खुद को तसल्ली दी कि यार कमोडिटीज के बारे में अपन जब कुछ जानते ही नहीं तो पैसा लगाना क्या शेयर मार्केट का गणित क्या है? ही ठीक होता. तब तो पंकज अपने दोस्त के सामने टालमटोल करके निकल गए. लेकिन, बात मन में अटक गई थी. ठान लिया कि गुरु, कमोडिटीज की गुत्थी सुलझा शेयर मार्केट का गणित क्या है? कर ही दम लूंगा. बस शुरू हो गया रिसर्च का दौर.

कमोडिटी कारोबार होता क्या है

पहली बात आई कि आखिर कमोडिटी कारोबार होता क्या है? खंगाला तो पता चला कि कमोडिटीज एक खास एसेट क्लास है. मोटे तौर पर शेयरों या बॉन्‍ड से इसका कोई रिश्‍ता नहीं होता. तो इसका क्या फायदा होता है? होता ये है कि कमोडिटीज में पैसा लगा हो तो स्‍टॉक और बॉन्‍ड पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करने में मदद मिलती है. आई बात समझ!! ना. पंकज सोच रहे हैं ऐसा कैसे होता है?

महंगाई बढ़ने पर ऊपर जाती हैं कमोडिटीज की कीमतें

तो बात ये है कि इसमें एक तो महंगाई से कवर मिलता है. दूसरा, आपको मिलेगा डायवर्सिफिकेशन. तीसरा, शेयरों और बॉन्ड के झंझटों का कोई असर नहीं. है ना फायदे की बात. पंकज सोच में पड़ गए कि यार कमोडिटीज में निवेश मंहगाई से कैसे बचाता है. मसला जटिल नहीं है. ऐसा होता है कि जब महंगाई बढ़ती है तो कमोडिटीज की कीमतें ऊपर जाती हैं. इससे शेयर बाजार पर प्रेशर पड़ता है. दूसरी तरफ, महंगाई न बढ़े तो मार्केट और बॉन्ड बाजार बढ़िया परफॉर्मेंस करते हैं. ये तो बात आ गई समझ. अब पंकज के दिमाग में बड़ा सवाल ये आया कि आखिर कमोडिटीज में भी कहां लगाया जाए पैसा? तो ऐसा है कि गोल्ड एक सेफ एसेट के तौर पर मशहूर है. उथल-पुथल वाले हालात में ये खूब कमाई कराता है. और महंगाई बढ़ी तो हो गई बल्ले-बल्ले. क्योंकि तब तो गोल्ड और ऊपर भागता है.

एग्री कमोडिटीज में पैसा लगा सकते हैं छोटे निवेशक

अब पंकज सोच रहे हैं कि क्या गोल्ड में पैसा लगाना सही होगा? अब उन्होंने ली एक्सपर्ट एडवाइज. तो मोतीलाल ओसवाल फाइनेंश‍ियल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट नवनीत दमानी कहते हैं कि आप एक्‍सचेंज पर ट्रेडिंग कर सकते हैं या सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड में निवेश कर सकते हैं. आप ETF या डिजिटिल गोल्‍ड के जरिए भी निवेश कर सकते हैं. दाम गिरें तो खरीद लीजिए. छोटे निवेशक एग्री कमोडिटीज में भी पैसा लगा सकते हैं.

पंकज सोच रहे हैं इनमें क्या आता है. अरे भाई… तिलहन, वनस्‍पति तेल, मसाले, दाल, अनाज में होती है ट्रेडिंग. एग्रीकल्‍चर कमोडिटीज को MCX और NCDEX पर लिस्‍ट किया जाता है. इनवेस्‍टोग्राफी की फाउंडर और CFP श्‍वेता जैन कहती हैं, ‘छोटे निवेशक अपने एसेट का 10 फीसद हिस्‍सा गोल्‍ड और सिल्‍वर में रख सकते हैं. निवेशकों को हमेशा अपने टारगेट पर चलना चाहिए.

Tata के इस शेयर ने मचाया धमाल, 1 लाख रुपये के बन गए 47 लाख, जानिए गणित

Multibagger stock: अगर आप शेयर बाजार में निवेश से अमीर बनना चाहते हैं तो आपके सबसे बड़े गुणों में से एक है धैर्य। लेकिन शेयर बाजार से करोड़पति या अरबपति बनने के लिए जरूरी है की आप सही जगह यानी सही.

Tata के इस शेयर ने मचाया धमाल, 1 लाख रुपये के बन गए 47 लाख, जानिए गणित

Multibagger stock: अगर आप शेयर बाजार में निवेश से अमीर बनना चाहते हैं तो आपके सबसे बड़े गुणों में से एक है धैर्य। लेकिन शेयर बाजार से करोड़पति या अरबपति बनने के लिए जरूरी है की आप सही जगह यानी सही शेयर में पैसा लगाएं। आज हम आपको टाटा के एक ऐसे शेयर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने धीरज रखने वाले निवेशकों को बंपर रिटर्न दिया है। टाटा का शेयर Tata Elxsi 10 साल में 104.68 रुपए से बढ़कर 4917 रुपए पर पहुंच गया है। यानी इस दौरान Tata Elxsi ने 47 गुना रिटर्न दिया है।

Tata Elxsi शेयर में पैसा लगाने के फायदे
टाटा समूह का यह शेयर 2021 में मल्टीबैगर शेयरों में से एक है। इस साल अब तक Tata Elxsi के शेयर 163 फीसदी रिटर्न दे चुके हैं। इस साल की शुरुआत में Tata Elxsi का शेयर प्राइस 1884.95 रुपए था जो आज बढ़कर 4917 रुपए पर पहुंच गया है। पिछले 6 महीने का हिसाब देखें तो यह 2670.30 रुपए से बढ़कर 4917 रुपए पर पहुंच गया है। इस अवधि में लगभग 85 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। टाटा समूह के शेयर ने पिछले एक साल में अपने शेयरधारकों शेयर मार्केट का गणित क्या है? को 300 प्रतिशत से अधिक रिटर्न दिया है क्योंकि इस अवधि में शेयर की कीमत ₹1239.60 प्रति शेयर स्तर से बढ़कर ₹3917 प्रति इक्विटी शेयर हो गई है। इसी तरह, पिछले 5 वर्षों में, यह शेयर ₹786.23 प्रति शेयर से बढ़कर ₹4917 के स्तर पर पहुंच गया है - इस अवधि में लगभग 540 प्रतिशत की वृद्धि शेयर मार्केट का गणित क्या है? दर्ज की गई है। हालांकि, अगर हम पिछले 10 वर्षों में टाटा समूह की इस कंपनी के शेयर की कीमत को देखें, तो 9 सितंबर 2011 को एनएसई में शेयर की कीमत ₹104.68 पर बंद हुई थी और आज यह ₹4917 पर कारोबार कर रहा है - इस शेयर की कीमत 10 साल में लगभग 47 गुना बढ़ गई है।

ये भी पढ़ें:- प्राइवेट सेक्टर के इस बड़े बैंक ने बदली FD की ब्याज दरें, जानिए अब कितना मिलेगा इंटरेस्ट

निवेशकों पर प्रभाव
यदि एक निवेशक ने एक महीने पहले इस शेयर में ₹1 लाख का निवेश किया होता, तो उसका ₹1 लाख आज ₹1.15 लाख हो जाता। यदि निवेशक ने 6 महीने पहले इतनी ही राशि का निवेश किया होता, तो उसका ₹1 लाख आज ₹1.85 लाख हो जाता, बशर्ते निवेशक इस अवधि के दौरान इस काउंटर में निवेशित रहा हो। इसी तरह, अगर निवेशक ने 5 साल पहले टाटा एलेक्सी के शेयरों में ₹1 लाख का निवेश किया होता, तो उसका ₹1 लाख ₹4 लाख हो जाता। लेकिन, अगर निवेशक ने 10 साल पहले इस मल्टीबैगर स्टॉक में निवेश किया होता तो इसका ₹1 लाख आज लगभग ₹47 लाख हो जाता।

ये भी पढ़ें:- महिलाओं के लिए आया रिलायंस रिटेल का नया स्टोर, कंपनी ने बताया आगे का प्लान

टाटा एलेक्सी शेयर रिसर्चर ने कही ये बात
SMC Global Securities के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट मुदित गोयल ने हर गिरावट पर शेयरों में निवेश करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि टाटा एलेक्सी के शेयर को 4880 रुपए के लेवल पर खरीदें और इसका टारगेट 5120 रुपए है। जबकि इसका स्टॉपलॉस 4800 रुपए पर लगाएं।

Share Market Today : आज बढ़त के साथ होगी बाजार की शुरुआत! निवेशक कहां पैसे लगाकर कमा सकते हैं मुनाफा?

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 461 अंकों की गिरावट पर बंद हुआ था.

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 461 अंकों की गिरावट पर बंद हुआ था.

Today Share Market : भारतीय शेयर बाजार में बीते सप्‍ताह जारी गिरावट का सिलस‍िला आज खत्‍म हो सकता है. एक्‍सपर्ट का कहना . अधिक पढ़ें

  • News18 हिंदी
  • Last Updated : December 19, 2022, 08:34 IST

हाइलाइट्स

पिछले कारोबारी सत्र में सेंसेक्‍स 461 अंकों की गिरावट के साथ 61,338 पर बंद हुआ.
निफ्टी 146 अंक टूटकर 18,269 के स्‍तर पर बंद हुआ था.
विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने 1,975.44 करोड़ रुपये के शेयर बेच डाले

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Share Market) में पिछले सप्ताह जारी गिरावट के सिलसिले पर आज विराम लग सकता है. ग्‍लोबल मार्केट से मिल रहे पॉजिटिव संकेतों का असर आज घेरलू निवेशकों के सेंटिमेंट पर भी दिखेगा और वे खरीदारी की तरफ जा सकते हैं. सेंसेक्‍स पहले ही लगातार गिरावट से 61 हजार के करीब पहुंच चुका है.

पिछले कारोबारी सत्र में सेंसेक्‍स 461 अंकों की गिरावट के साथ 61,338 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 146 अंक टूटकर 18,269 पर बंद हुआ था. एक्‍सपर्ट का कहना है कि बाजार इस सप्‍ताह शेयर मार्केट का गणित क्या है? की शुरुआत बढ़त के साथ कर सकता है, क्‍योंकि ग्‍लोबल मार्केट में वापस लौटी तेजी का घरेलू निवेशकों के सेंटिमेंट पर पॉजिटिव असर होगा और आज उनका जोर खरीदारी पर हो सकता है.

अमेरिका और यूरोपीय बाजारों का हाल
फेरल रिजर्व ने जबसे साल 2023 में भी ब्‍याज दरों के बढ़ाए जाने का संकेत दिया है, वहां के शेयर शेयर मार्केट का गणित क्या है? बाजारों में भगदड़ मची हुई है. निवेशक लगातार मुनाफावसूली कर रहे हैं, जिससे पिछले कारोबारी सत्र में भी अमेरिका के सभी प्रमुख बाजारों में गिरावट दिखी. S&P 500 1.11 फीसदी के नुकसान पर बंद हुआ तो DOW JONES 0.85 फीसदी टूटकर बंद हुआ. इसके अलावा NASDAQ पर 0.97 फीसदी की गिरावट दिखी.

अमेरिका की तर्ज शेयर मार्केट का गणित क्या है? पर यूरोपीय बाजारों में भी पिछले कारोबारी सत्र में गिरावट दिखी है. यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल जर्मनी का स्‍टॉक एक्‍सचेंज 0.68 फीसदी के नुकसान पर बंद हुआ जबकि फ्रांस का शेयर बाजार 1.08 फीसदी के नुकसान पर रहा, जबकि लंदन का स्‍टॉक एक्‍सचेंज 1.28 फीसदी गिरकर बंद हुआ.

एशियाई बाजारों का मिलाजुला रुख
एशिया के ज्‍यादातर शेयर बाजारों में आज सुबह तेजी दिख रही है. सिंगापुर स्‍टॉक एक्‍सचेंज सोमवार सुबह 0.35 फीसदी की तेजी पर कारोबार कर रहा था, जबकि जापान का निक्‍केई 1.09 फीसदी गिरावट पर दिख रहा था. हांगकांग के शेयर बाजार में 1.30 फीसदी की तेजी है तो ताइवान में 0.43 फीसदी की गिरावट. दक्षिण शेयर मार्केट का गणित क्या है? कोरिया के कॉस्‍पी पर भी 0.23 फीसदी का नुकसान दिख रहा है. आज चीन का शंघाई कंपोजिट 0.03 के नुकसान पर कारोबार कर रहा है.

आज इन शेयरों पर रहेगी निगाह
एक्‍सपर्ट का मानना है कि आज बाजार में तेजी के बीच कुछ ऐसे भी शेयर होंगे जिन पर निवेशकों की करीबी निगाह बनी रहेगी और इनमें मुनाफा कमाने का मौका है. ऐसे शेयरों को हाई डिलीवरी पर्सेंटेज की श्रेणी में रखा जाता है और आज इसकैटेगरी में Power Grid Corporation of India, Tata Consultancy Services, HDFC Bank, Sun Pharma और Mphasis जैसी कंपनियों के स्‍टॉक शामिल हैं.

विदेशी निवेशकों की निकासी
भारतीय पूंजी बाजार से विदेशी निवेशकों की धन निकासी का सिलसिला जारी है. पिछले कारोबारी सत्र में विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने 1,975.44 करोड़ रुपये के शेयर बेच डाले, जबकि इसी दौरान घरेलू संस्‍थागत निवेशकों ने 1,542.50 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

रेटिंग: 4.75
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 173